You are now offline | Retry
Loader Image

दिवालिया कानून की खामी!

रियल एस्टेट सेक्टर के लिए एनसीएलटी मुश्किल का सबब बनता जा रहा है। आम्रपाली और जेपी के मामले में तो एनसीएलटी के फ़ैसले घर ख़रीदारों का कोई भला नहीं कर पाए थे। इससे सबक लेते हुए क़ानून में ग्राहकों को ...

रियल एस्टेट सेक्टर के लिए एनसीएलटी मुश्किल का सबब बनता जा रहा है। आम्रपाली और जेपी के मामले में तो एनसीएलटी के फ़ैसले घर ख़रीदारों का कोई भला नहीं कर पाए थे। इससे सबक लेते हुए क़ानून में ग्राहकों को ज़्यादा अधिकार दिए गए। इसके बावजूद घर खरीदारों के साथ न्याय नहीं हो पा रहा है। हाल के दिनों में पैरामाउंट ग्रुप और अब सिक्का ग्रुप को दिवालिया प्रक्रिया में भेजने के फैसलों को जिस तरह से NCLAT और खुद NCLT ने पलट दिया उससे साफ़ हो गया है कि दिवालिया क़ानून को रियल एस्टेट के लिए बनाने में अभी काफ़ी सुधार की ज़रूरत है। ताज़ा मामला सिक्का ग्रुप का है।

#GOOGLE NEWS, #real estate, #nclt, #business news in hindi, #business news, #Banrupcy Lawsuit, #National Law Company
Biz Bazaar
12th Feb 19